Rashtriya Ahinsha Manch | About


राष्ट्रीय अहिंसा मंच (राम)

About Us Details

राष्ट्रीय अहिंसा मंच (राम)


राष्ट्रीय अहिंसा मंच (राम) एक राजनैतिक संगठन है। इसका गठन ३० जनवरी २००८ में हुआ था। फरवरी में निर्वाचन आयोग में आवेदन किया था। जून में साक्षात्कार दिया। जुलाई में पंजीकरण पत्र बना। जो अगस्त २००८ में प्राप्त हुआ। राम का प्रथम एजेंडा गौवंश की रक्षा है। हमारी दृष्टि में गौरक्षा = सच्ची आजादी, क्योंकि गौरक्षा बिन स्वतंत्रता अधुरी। गौरक्षा के साथ साथ हमें व्यवस्था परिवर्तन कर राम राज्य जैसा सुशासन स्थापित करना है। व्यवस्था परिवर्तन के अनेक आयाम हैं यथा -

१) शिक्षा, चुनाव, न्याय व्यवस्था निःशुल्क करनी ताकि हर भारतवासी को सामान रूप से प्राप्त हो।
२) एकल, सरल, स्वचल कर व्यवस्था स्थापित करनी ताकि भ्रष्टाचार, महंगाई, बेरोजगारी, गरीबी, भूखमरी आदि समाप्त हो।
३) हर भारतवासी भारत की कुल सम्पति का मालिक है, अतः उसे भारत की कुल कमाई में हिस्सा देना। इससे भी गरीबी, भूखमरी समाप्त होगी।

हम लोग स्वतंत्रता सैनानियों + राजीव दीक्षित के सपनों के भारत को साकार करना चाहते हैं। जिसमे शासन कार्य कुशल और मितव्ययी हो। "कर" पराग की तरह लिया जाये, और बरसात की तरह जनता को समान रूप से वितरत किया जाये। हमारे सांसद वेतन, भत्ता, पेंशन नहीं लेंगे। हर क्षेत्र का देशभक्त कार्यकुशल व्यक्ति मंत्री होगा- जो निःशुल्क सेवा देने तैयार हो। वे देशहित में नीतियाँ बनायेंगे। जिस पर सांसद चर्चा करेंगे और सुझाव देंगे। फिर उसे लागू किया जायेगा। न व्हिप जारी होगा, ताकि सांसद रबर स्टाम्प न रहें। सांसद ८० से १०० % संसद में उपस्थित रहेंगे। पूर्ण गौरक्षा होने तक अन्न ग्रहण नहीं करेंगे।

हम लोग लगभग सभी सीटों पर अच्छे, सच्चे, पक्के, गौभक्त, संत, किसान, युवा, मातृशक्ति प्रत्याशी खड़े करना चाहते हैं। गौमाता की कृपा से ऐसी रणनीति बनी है जिसमे नहीं के बराबर खर्च में हमारा प्रत्याशी जीत सकता है। विस्तृत जानकारी के लिये घोषणा पत्र, आदि पढ़ें।